Maa – Taare Zameen Par


For a beautiful birthday,Ma. You still remain my best friend.

मैं कभी बतलता नहीं
पर अंधेरे से डरता हूँ मैं मा
यूँ तो मैं,दिखलता नहीं
तेरी परवाह करता हूँ मैं मा
तुझे सब हैं पता, हैं ना मा
तुझे सब हैं पता,मेरी मा….

भीड़ में यूँ ना छोड़ो मुझे
घर लौट के भी आ ना पाऊँ मा
भेज ना इतना दूर मुझको तू
याद भी तुझको आ ना पाऊँ मा
क्या इतना बुरा हूँ मैं मा
क्या इतना बुरा मेरी मा

जब भी कभी पापा मुझे
जो ज़ोर से झूला झूलते हैं मा
मेरी नज़र ढूँढे तुझे
सोचु यही तू आ के थामेगी मा

उनसे मैं यह कहता नहीं
पर मैं सहम जाता हूँ मा
चेहरे पे आना देता नहीं
दिल ही दिल में घबराता हूँ मा
तुझे सब है पता है ना मा
तुझे सब है पता मेरी मा

मैं कभी बतलता नहीं
पर अंधेरे से डरता हूँ मैं मा
यूँ तो मैं,दिखलता नही
तेरी परवाह करता हूँ मैं मा
तुझे सब हैं पता, हैं ना मा
तुझे सब हैं पता,मेरी मा

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: